100% Satisfaction
सरकार द्वारा प्रमाणित 301/11

अनाथ एवं बेसहारा लोगों के लिए निःशुल्क

Services
यदि आप हकलाते हैं तो आपके बच्चे को भी हकलाना हो सकता है क्योंकि हकलाने के वातावरण एवं दूसरे हकलाने वाले की नक़ल करने से भी ये समस्या हो सकती है।

मेवाड़ स्पीच थैरेपी को क्यों ज्वाइन करें?

  • भारत की किसी भी स्पीच थैरेपी की तुलना में सबसे काम फीस एवं ज्यादा समय तक थैरेपी देना।
  • यहाँ कोर्स लेने के बाद आपको 100% संतुष्टिपूर्वक ठीक करके ही भेजा जायेगा।
  • कोर्स के बाद निःशुल्क सहायता।
  • कोर्स नई-नई तकनीक पर आधारित।
  • हमारे यहाँ से ठीक होकर गए लोगों के बारे में पूर्ण जानकारी ले सकते हैं एवं व्यक्तिगत भी मिल सकते हैं।
  • संतुष्टिपूर्वक पूर्ण जानकारी एवं परामर्श हेतु WhatsApp 09829131887 पर संपर्क कर सकते हैं।
  • यहाँ पर अलग-अलग माहौल में रोज़ प्रैक्टिस करवाई जाती है।
  • फिल्म एक्टर श्री ऋतिक रोशन जी को भी बचपन से हकलाने की समस्या थी। उन्होंने भी स्पीच थैरेपी से इस समस्या से निजात पाया। यदि वे सही हो सकते हैं तो आप क्यों नहीं?

हम कौन हैं

मेवाड़ स्पीच थेरैपी सेंटर भारत में एक उभरता हुआ स्पीच थेरैपी सेंटर है जो जाने-माने स्पीच थैरेपिस्ट श्री महिपाल सिंह राणावत द्वारा मैनेज किया जाता है। श्री राणावत के अनुसार, "हकलाना कोई बीमारी नहीं है। यह एक आदत है जिसमे रुकते हुए बोलते हैं।" इस पूरी दुनिया में, हकलाने की समस्या के लिए कोई दवा नहीं है क्योंकि यह एक बुरी आदत है बीमारी नहीं। इसलिये श्री राणावत ने बहुत सोचने के बाद झीलों के शहर - उदयपुर में स्पीच थेरैपी सेंटर शुरू किया।

मेवाड़ स्पीच थैरेपी सेंटर एक ऐसा सेंटर है जहाँ बच्चों व बड़ों सभी के लिए हकलाना, तुतलाना, बहरेपन जैसे असाध्य रोगों का समाधान होता है। हमने स्पीच, भाषा या आवाज के लिए एक व्यक्तिगत कार्यक्रम विकसित किया है और आपके परिवार की जरूरतों के हिसाब से इसे सिखाया जाता है। उदयपुर शाखा की शानदार सफलता के बाद हमने पाली में भी स्पीच थैरेपी सेंटर शुरू किया है।

हमारा लक्ष्य भारत को हकलाहट-मुक्त बनाना है। ऐसे बहुत सारे केस हमने हल किये हैं जो ऊपर दिए गए बयान को सही ठहराते हैं। हमारे पास ऐसे बहुत से लोग हैं जो भारत की विभिन्न स्पीच थैरेपी से निराश होकर आये हैं.

वे क्या कहते हैं

भूपेन्द्र सिंह

मेवाड़ स्पीच थैरेपी ज्वाइन करने पहले लोग मुझे कहते थे कि वे मेरी बात नहीं समझते हैं। मेरी हकलाहट बहुत ज्यादा थी। मैं हमेशा सोचता था कि मैं कैसे इंटरव्यू में पास हो पाउँगा और कैसे सीनियर्स का सामना कर पाउँगा क्योंकि मेरे पास सामान्य आवाज़ नहीं थी। इसके बाद मैंने मेवाड़ स्पीच थैरेपी को ज्वाइन किया। अब मैंने बहुत आत्मविश्वास प्राप्त कर लिया है और अब मैं बिना किसी समस्या के किसी भी व्यक्ति से बात कर सकता हूँ।

देवेन्द्र शर्मा

मैं B.Ed. कॉलेज का विद्यार्थी हूँ और मैं हकलाने की समस्या से परेशान था। मुझमें आत्मविश्वास की कमी थी, मैं किसी से भी ठीक से बात नहीं कर पता था। फिर मेरे मित्र ने मुझे मेवाड़ स्पीच थैरेपी के बारे में बताया। मैंने इसे एक महीने के लिए ज्वाइन किया और अब मैं एक सामान्य व्यक्ति की तरह बोल सकता हूँ। मैंने कॉलेज में बिना किसी परेशानी के सेमिनार भी दिया। मैं हमारे सर को नहीं भूल सकता। धन्यवाद सर !!